How to Discover your Talent in Hindi | अपने अंदर की प्रतिभा कैसे पहचानें?

How to Discover your passion in Hindi

अपने अंदर की प्रतिभा कैसे पहचानें ?

If you want  to understand, pleas read this post with Concentration. If you read full post, I promise, you don’t have to search again on Google How to discover your talent in Hindi.

◆ अपने अंदर  के Talent को Discover  करने से पहले हमें Deeply समझना चाहिए की Talent क्या होता है, और ये कैसे बनता है। क्या क्या प्रक्रियाएं होती है, Talent पहचानने के किये।

◆ Best Way to Discover Your Talent –

How to Discover Your Talent
How to Discover Your Talent
1. Talent ( प्रतिभा ) – 
जिस काम को आप लगन और मेहनत से करते हैं। और उस काम को करने पर थकावट न महसूस हो । और आप उस काम में अपना सौ प्रतिशत दे सके। उस काम को आप दूसरों की अपेक्षा अधिक तेजी से कर पाएं। और उस काम को करने में आप को मज़ा आता है वही आपका Talent ( प्रतिभा ) है।

2. Interest ( रूचि ) –
कोई भी ऐसी Field ( विषय) जिनके बारे में आपको जाने में अच्छा लगे , और उस विषय के बारे में आप को सीखने में मज़ा आये । वही Interest ( रूचि ) है। जैसे – किसी का टेक्नोलॉजी में होता है किसी का सिंगिंग में होता है , डांसिंग में होता है , किसी का किसानी में होता है। किसी का तो केवल पढ़ाई में होता है ।  यही Interest ( रूचि ) होता है।
3. Skill ( कौशल ) –
हमारा किसी भी Field ( विषय ) में Interest ( रूचि ) हो , जैसे – गाना गाने में , कंप्यूटर में, क्रेकेटेर में , लेकिन हम तब तक उस में सफल नहीं हो सकते जब तक की हम उस Field ( विषय ) में Expert ( विशेषज्ञ ) नहीं हो जाते , और हमें इसके लिए जो सीखना पड़ेगा उस ही Skill ( कौशल ) कहते हैं।
बिना Skill ( कौशल ) के हम किसी भी Field       ( विषय ) में सफल नहीं हो सकते ।
4. Knowledge ( ज्ञान ) – 
किसी भी व्यक्ति या वस्तु के बारे में समझना ही Knowledge (ज्ञान) कहलाता है। जैसे – skill     ( कौशल ) , Fact ( तथ्य ) , Information ( सूचना ) के बारे में जानना और समझना ही ज्ञान है।

How to Discover Your Talent
Your Talent

◆ How to discover your talent – अपने प्रतिभा को कैसे पहचाने ?

हाँ , हम सब के अंदर कुछ न Talent ( प्रतिभा ) तो होता ही है। लेकिन हम सब उसे पहचान नहीं पाते की हमारे अंदर क्या Talent ( प्रतिभा ) है। क्योंकि अगर हम अपने आप से पूछते हैं कि हमारे अंदर क्या टैलेंट है, तो हमारे अंदर से वही चीजें निकलकर आती हैं जो हमारी Hobbies ( आदतें )  होती हैं। जैसे किसी का हो सकता है डांस करना किसी का हो सकता है गाने गाना। हमें अलग कुछ दिखाई नहीं देता क्योंकि हमारे अंदर जो Information ( सूचना ) फीड होती है हमें उसी के बारे में ही दिखाई देता है ।

तो हमें अपने इंटरेस्ट को Identity ( पहचान ) करने के लिए ज्यादा से ज्यादा इंफॉर्मेशन और नॉलेज की जरूरत होगी। हमें सही जगह से नॉलेज की जरूरत होगी।

जब हमारे पास ज्यादा सही नॉलेज होगा हमारे पास ज्यादा इंटरेस्ट रिलेटेड फील्ड होगा। 
अब हम अपने इंटरेस्ट को फाइंड कर सकते हैं। अब हमें अपने इंटरेस्ट रिलेटेड फील्ड में स्किल को Develop ( विकसित ) करनी होगी हमें अपनी Skill को डिवेलप करने के लिए सही जगह से सही नॉलेज की ज़रूरत होगी। हमें अपने इंटरेस्टेड Field में अपनी स्किल डिवेलप करने में मजा आएगा। अब यही हमारा इंटरेस्टिंग फील्ड ही हमारा टैलेंट है ।

मुझे आशा है आपको या पोस्ट अच्छा लगा होगा और आपको अपने टैलेंट को को एडिफाई करने में हेल्प मिला होगा।

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप आगे और पोस्ट देखने के लिए हमारे ब्लॉक को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

धन्यवाद।।।

  Related Posts:-


 1. Real Happiness     
   



Comment Your Thoughts ...