Think and Grow Rich Book Summary in Hindi

Think and Grow Rich Book Summary in Hindi | सोच कर कैसे अमीर बना जाता है?

हेलो दोस्तों, आज हम इस समरी “थिंक एंड ग्रो रिच” में देखेंगे कि कामयाब लोग किस तरह से सोचते हैं और कैसे काम करते हैं। हम ना कामयाब और कामयाब लोगों की बीच के अंतर को पहचानना सीखेंगे, क्या होता है कुछ लोग सफल हो जाते हैं लाइफ में और कुछ लोग सफल नहीं हो पाते हैं। और यह देखेंगे कि कैसे आप खुद को कामयाब व्यक्ति की तरह सोचना सीख कर खुद को कामयाब बना सकते हैं और अपने सपनों को पूरा कर सकते हैं।

Book Summary: Think and Grow Rich Book Summary Written By Napolean Hill

Table of Contents

Think and Grow Rich Book Summary in Hindi

थिंक एंड ग्रो रिच बुक समरी किन लोगों के लिए है?

थिंक एंड ग्रो रिच बुक समरी उन लोगों के लिए है जो कामयाब लोगों की तरह सोचना सीखना चाहते हैं और जो खुद पर भरोसा करना सीखना चाहते हैं यह बुक समरी उन लोगों के लिए भी है जो किसी वजह से अपनी मंजिल को हासिल नहीं कर पा रहे हैं।

कुछ बड़ा हासिल करने के लिए आपके अंदर एक बड़ी ख्वाहिश होनी चाहिए।

हर कोई कामयाबी हासिल करना चाहता है लेकिन कुछ ही लोग उसे हासिल कर पाते हैं। क्या आपने कभी इसकी वजह जानने की कोशिश की है? कामयाब लोग कामयाब इसलिए होते हैं क्योंकि उनके अंदर कामयाबी की चाहत बहुत ज्यादा होती है उसके लिए किसी भी हद से गुजरने के लिए तैयार रहते हैं।

क्या आपके अंदर कामयाबी की ख्वाहिश या अपने सपने को पूरा करने की जिद्द है? अगर हां, तो आप अपने सपने पूरे कर जाओगे। think and grow rich book summary in hindi

उदाहरण के लिए कर्नल सैंडल्स को ले लीजिए। रिटायर होने के बाद ओए चिकन की रेसिपी लेकर घर-घर आर्डर मांगने गए। लगभग 1000 घर के दरवाजे से ना सुनने के बाद उन्हें उनका पहला आर्डर मिला। उसी के बाद से केएफसी नाम के फूड चैन की शुरुआत हुई जो आज दुनिया भर में फेमस है।

तो कहने का मतलब यह है कामयाब लोगों के अंदर जीतने की ख्वाहिश हारने के खौफ से ज्यादा होती है।

वै 100 लोगों के ना कहने पर भी अपने सपनों के पीछे भागते हैं इसलिए कामयाब होते हैं इसलिए आप भी सबसे पहले अपने अंदर इस ख्वाहिश को जगाए।

अपनी मंजिल को हासिल करने के लिए अपने रास्तों के नक्शे बनाइए।

कामयाबी आपको तभी मिलेगी जब आपको पता होगा कि आप क्या हासिल करना चाहते हैं। इसके लिए सबसे पहले आप यह सोचिए कि कहां जाना है।

और इसके बाद यह सोचिए कि आपको कहां तक जाना है। अगर आप एक फेमस लेखक बनना चाहते हैं तो यह सूची की आपको कितनी बेस्टसेलिंग किताबी लिखनी है।

इसके बाद आप यह लिखिए की आपको कब से कब तक उस मंजिल को हासिल करना है। अगर आपने बस यह सोच लिया है कि आपको करना है लेकिन यह नहीं सोचा कि कब तक करना है तो इसका मतलब है कि आप उसे बाद में करने के लिए टाल रहे हैं जो आपको आपकी मंजिल तक नहीं पहुंचने देगा।

अंत में आपको यह तय करना होगा कि किस तरह से आप अपनी मंजिल तक पहुंचेंगे। हर एक कदम को अच्छे से लिखिए और सोचिए की कब आपको क्या करना है यह काम आप जितने फैलाकर करें उतना बेहतर होगा जब आपको अपना पूरा प्लान मिल जाए आप फौरन उस पर काम करना शुरू कर दीजिए

जब आपके पास आपका पूरा प्लान आ जाए तो आप उसे कहीं अच्छे से लिख लीजिए और दिन में 2 बार पढ़िए सुबह उठने के बाद और रात में सोने से पहले। ऐसा करके आप अपने काम पर नजर रख सकते हैं और उसे करने के लिए खुद को मोटिवेट कर सकते हैं। think and grow rich book summary in hindi

और पढ़ें: Rich Dad Poor Dad Book Summary in Hindi

खुद पर भरोसा करना कामयाब लोगों की सबसे बड़ी खासियत होती है।

अगर आप इतिहास उठाकर किसी भी कामयाब इंसान की कहानी पढ़ेंगे तो आप देखेंगे कि हर एक कामयाब व्यक्ति खुद पर भरोसा करता था। बिना इसके किसी ने भी महानता हासिल नहीं की। वह जानते थे कि वे जो कर रहे हैं उसे एक दिन जरूर कर लेंगे और वे तब तक नहीं रुकते थे जब तक वे उसे हासिल नहीं कर लेते थे।

उदाहरण के लिए थॉमस अल्वा एडिसन को ले लीजिए। बल्ब बनाने में 10 हजार बार नाकामयाब होने के बाद भी उनका खुद पर विश्वास नहीं उठा। वे फिर भी कोशिश करते रहें और इतिहास के पन्नों में अपना नाम लिख दिया।

खुद पर भरोसा करने में बहुत ताकत है। यह कुछ भी करवा सकती है। तो अगर आपको अपनी मंजिल तक पहुंच तो आप खुद पर भरोसा कीजिए। think and grow rich book summary in hindi

think and grow rich book summary in hindi
Self Confidence!

अपने बारे में खुद से अच्छी बातें कर आप अपने व्यवहार को बदल सकते हैं।

हर कोई खुद पर भरोसा करना सीख सकता है। अगर आप हर दिन खुद से यह कहते रहे कि आप यह काम कर सकते हैं एक समय ऐसा आएगा कि आप वाकई उस काम को करने की काबिल हो जाएंगे। खुद से इस तरह बात करने को ऑटो सजेशन कहा जाता है।

ऑटो सजेशन में हम उन चीजों के बारे में सोचते हैं जो हम करना चाहते हैं जिसे करने से हम खुद को कामयाबी की तरफ ले जा सकते हैं लेकिन किसी वजह से ओ काम नहीं कर पा रहे हैं। जब हम बार-बार उस बात को खुद से कहते रहते हैं एक वक्त आता है हमारा दिमाग उसे सच मान लेता है और हम उस काम को करने के काबिल हो जाते हैं।

ऑटो सजेशन की मदद से हम खुद पर भरोसा करना सीख सकते हैं और हर वो काम कर सकते हैं जो हम करना चाहते हैं। अगर आप उन लोगों में से हैं जो किसी चीज को हासिल करना चाहते हैं। और खुद पर भरोसा नहीं कर पा रहे हैं तो यह तरीका सिर्फ आपके लिए बनाया गया। think and grow rich book summary in hindi

कामयाब होने के लिए आपके पास क्या होना चाहिए।

ज्ञान के आ जाने से बहुत से काम आसान हो जाते हैं। कामयाब लोग हमेशा अपने ज्ञान को बढ़ाते रहते हैं। कि जितना ज्यादा पढ़ाई करेंगे उतने ही कामयाब बनेंगे। लेकिन अगर आप पढ़ना छोड़ देंगे तो आप जहां है वहीं रह जाएंगे और कामयाबी आपसे दूर हो जाएगी ।

जानकारी को हासिल करने के लिए आपको किसी यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने की जरूरत नहीं है और ना ही आपको किसी डिग्री की जरूरत है। आप बिना स्कूल गए भी बहुत सी जानकारियां से कर सकते हैं और कामयाब हो सकते हैं। इसके लिए आप अलग-अलग लेखकों किताबें पढ़िए है सेमिनार या किसी एजुकेशनल प्रोग्राम मैं जाइए।

जानकारी का मतलब यह नहीं है कि आप दुनियाभर की चीजों को याद कर ले। इसका मतलब उस ज्ञान और अनुभव से है जिसका समय आने पर सही इस्तेमाल कर सके और खुद को आगे लेकर जा सके।

इसके अलावा भी जरूरी है क्या एक्सपर्ट में अपना परिचय रखें ताकि अगर आपको किसी चीज के बारे में जानना हो तो आप उनसे पूछ सके। बड़ी-बड़ी कंपनियां में बहुत सारे एक्सपर्ट होते हैं जिनसे सलाह लिया जाता है और आपको सब कुछ जानने की जरूरत नहीं है। think and grow rich book summary in hindi

आपकी कल्पना करने की क्षमता ही आपकी काबिलियत है।

अल्बर्ट आइंस्टीन ने कहा था – बुद्धिमान होने का मतलब यह नहीं है कि आप कितना जानते हैं, बुद्धिमान होने का मतलब यह है कि आप कितनी कल्पना कर सकते हैं।

कल्पना करना ही एक ऐसा तरीका है जिसकी मदद से हम अपने सपनों को आइडियाज में और अपने आइडियाज को हकीकत में बदल सकते हैं। कल्पनाएं दो तरह की होती है-:

1. क्रिएटिव इमेजिनेशन –

इस तरह की कल्पना में हम कुछ ऐसा सोचते हैं जो आज तक नहीं सोचा गया था। इससे हम कुछ ऐसा बनाने की कोशिश करते हैं जिसके बारे में आज तक किसी ने ना सोचा हो। इसका इस्तेमाल बड़े-बड़े इन्वेस्टर्स ने बड़ी-बड़ी चीजों को बनाने के लिए किया गया था।

2. सिंथेटिक इमेजिनेशन –

इस तरह की कल्पना में हम बहुत सारे पुराने आइडियाज को मिलाकर एक नई आईडिया में बदल देते हैं। इसका इस्तेमाल सोनी में MP3 प्लेयर बनाने के लिए किया गया था सोनी ने पत्रकारों के प्लेबैक डिवाइस को एक ऐसे डिवाइस में बदल दिया जिसका इस्तेमाल कोई भी गाने सुनने के लिए कर सकता था इसी तरह वॉकमैन का जन्म हुआ।

अगर आप चाहते हैं कि आपके कल्पना करने की क्षमता बनी रहे तो आप समय-समय पर कल्पना करते रहिए। आप जितनी ज्यादा कल्पना करेंगे आप की कल्पना करने की क्षमता उतनी ज्यादा बढ़ेगी। इससे आप समय के साथ और कामयाब बन सकते हैं। think and grow rich book summary in hindi

अपनी खूबियों के साथ अपनी कमजोरियों पर भी ध्यान दें।

हम मे से बहुत से लोग यह मानने के लिए तैयार नहीं है कि उनके अंदर भी बहुत से खामियां भी है, जिन्हें सुधार कर खुद को आगे लेकर जा सकते हैं। यही बात हमें कामयाब होने से रोकती है इसके लिए सबसे पहले आप खुद के बारे में जानने की कोशिश कीजिए। think and grow rich book summary in hindi

खुद के बारे में जानने के लिए आप खुद से कुछ इस तरह के सवाल कर सकते हैं- क्या मैंने अपने इस साल के लक्ष्य को पूरा किया? क्या मैं इस साल ज्यादा काम कर सकता था? क्या मैं और बेहतर फैसले ले सकता था?

इस तरह के सवाल आपको यह बताएंगे कि आप कहां गलती कर रहे हैं। इसे आपको यह पता लगेगा कि आप किस तरह से खुद को बेहतर बना सकते हैं। बहुत से आदतें हम सभी में पहले से होती हैं इन आदतों में आलस करना, आज के काम को कल के लिए डालना,ओ ना करना जो करना चाहिए शामिल है।

अपने साथ हमेशा एक काम की लिस्ट रखिए, जिसमें आप वे सभी काम लिखे हो जो आपको करने हैं। अगर आप उसे दिए गए समय के अंदर नहीं कर पाए तो वक्त आ गया है यह पता करने का कि आप कहां गलती कर रहे हैं।

खुद को पूरी तरह से जानने के बाद अगर आप चाहे तो किसी और व्यक्ति से भी खुद के बर्ताव के बारे में पूछ सकते हैं। वह व्यक्ति आपका कोई करीबी दोस्त हो सकता है जो आपको बहुत अच्छे से जानता हो। आप दोनों लोग एक दूसरे की कमियों को बता कर खुद को पहले से बेहतर बना सकते हैं।

कामयाब होने के लिए अच्छी सोच रखिए।

हमारा कॉन्शियस माइंड अच्छी और बुरी चीजों में फर्क करना जानता है। इसलिए और सिर्फ अपने काम को चीजों को अपने पास रख कर बेकार की चीजों को निकाल फेंकने की क्षमता रखता है।

लेकिन हमारे सबकॉन्शियस माइंड के साथ ऐसा नहीं है। सबकॉन्शियस माइंड अच्छी और बुरी बातों को अपने पास रख लेता है। इसलिए जरूरी है कि आप खुद को बुरे लोगों और बुरी चीजों से दूर रखें।

हमारा सबकॉन्शियस माइंड हर तरह की जानकारी को सेव कर लेता है जिसकी वजह से हमारा व्यवहार समय के साथ वैसा ही हो जाता है। अगर आप 2 महीने के लिए बदजुबान लोगों के साथ रहे तो ना चाहते हुए भी आपके मुंह से गालियां निकलने लगेंगे। think and grow rich book summary in hindi

नाकामयाब लोग के साथ रहने और उनकी बातें सुनने से आप समय के साथ वैसे ही बन जाते हैं। संगत के असर से आप बच नहीं सकते। बुरी संगत से आपकी आदतें बुरी हो जाएंगी जिसे आप कामयाब नहीं हो पाएंगे।

इसलिए अगर आप चाहते हैं कि आपका व्यवहार अच्छा हो तो आप हमेशा अच्छा सोचिए और अच्छे लोगों के साथ रहिए। ऐसा करने से हम अपने दिमाग को अच्छी बातों से भरकर अपने व्यवहार को वैसा ही बना सकते हैं और कामयाब हो सकते हैं। think and grow rich book summary in hindi

कामयाब लोगों की सबसे बड़ी खासियत उनकी इच्छा शक्ति होती है।

बहुत सारे लोग अपने लिए गए फैसले पर ज्यादा दिन तक नहीं टिक पाते। यह वही लोग हैं जो नाकामयाब हैं। वे मुश्किल वक्त में वे अपने लिए गए फैसलों को छोड़ देते हैं और उस काम पर ध्यान देते हैं जो लंबे समय तक उनके लिए फायदेमंद नहीं है। think and grow rich book summary in hindi

अगर आप अपनी कही गई बात पर नहीं टिकते तो आप कभी कामयाब नहीं हो सकते।

कामयाब होने के लिए जिद्दी होना बहुत जरूरी है। लोग हमेशा आप सही किया बात कहेंगे कि आप यह काम नहीं कर सकते लेकिन ऐसे लोगों की बात ना सुनने में ही आपकी भलाई है। अगर आप सब के विचारों के हिसाब से काम करते रहेंगे तो कुछ भी नहीं कर पाएंगे।

अगर इस तरह के लोगों की बातों से आपका फैसला कम होता है तो आप अपनी मंजिल के बारे में किसी को मत बताइए। इसके बारे में सिर्फ उनको ही बताइए जो आपके बहुत खास हैं यह आपकी टीम के मेंबर हैं।

कामयाबी की रेस में सिर्फ जिद्दी लोगों की जीत होती है।

जब भी हम कोई काम करते हैं तो उसमें मुश्किलें आती हैं। बहुत से लोग मुश्किलों का सामना नहीं करते और उससे भागते हैं। उन्हें लगता है कि इससे उनका काम आसान हो जाएगा लेकिन समय के साथ या मुश्किलें ब्याज के साथ जोड़कर इनके सिर परआ गिरते हैं।

कामयाब लोगों को यह बात अच्छे से पता है। वे जब भी किसी मंजिल को हासिल करने के लिए निकलते हैं तो उसे पाकर ही चैन की सांस लेते हैं। अगर आप कामयाब होना चाहते हैं तो आपको किसी भी काम को छोड़ना बंद करना होगा। आपको लगे रहना सीखना होगा इसके लिए आप चार आदतों को अपनाइए।

किसी मंजिल को हासिल करने के लिए यह गहरी इच्छा को अपने अंदर पैदा कीजिए।

खुद को नेगेटिव लोगों से दूर रखें उनके साथ उठना बैठना बंद कर दीजिए जो आपके हौसले को कमजोर करते हैं।

इन आदतों को अपने अंदर कुछ इस तरह बैठा लीजिए। इनको खुद से दूर करना आपके लिए असंभव हो जाए। तभी आप कुछ करने की जिद पकड़ कर आगे बढ़ सकते हैं।

कुछ बड़ा हासिल करने के लिए आपको अपने वैसे लोगों के साथ रहना होगा।

टीम में काम करने के अपने फायदे हैं लेकिन यह फायदे अकेले काम करने के फायदा से ज्यादा है तो इसलिए खुद के लिए एक टीम बनाइए। think and grow rich book summary in hindi

आपकी मंजिले जितनी बड़ी होंगी, उसकी प्लानिंग भी उतनी बड़ी होगी,उस प्लान पर काम करना उतना ही मुश्किल होगा और मेहनत से काम करने पर जो कामयाबी हासिल होगी उतनी ही शानदार होगी। इसलिए यह बहुत जरूरी है कि आप अपने लिए एक टीम बनाएं।

अपनी टीम में उन लोगों को लीजिए जो एक मंजिल को हासिल करने के लिए काम करें। जब कुछ लोगों के टैलेंट, काम करने की क्षमता, मेहनत और लगन एक साथ मिल जाती है। तो एक ऐसी कामयाबी हासिल होती है जो एक व्यक्ति कभी अकेले नहीं कर सकता था। think and grow rich book summary

इस टीम में बुद्धिमान लोगों का होना बहुत जरूरी है उन लोगों के बीच के संबंध का अच्छा होना और भी जरूरी है। इसलिए सिर्फ उन लोगों को अपने टीम में लीजिए जो टीम में काम करने के बारे में अच्छे से जानते हो। तो आप जिनके साथ काम करने वाले हैं उनका चुनाव सोच समझकर कीजिए।

सारांश –

हम सभी लोग कामयाब और आजाद होने के लिए पैदा हुए थे। लेकिन अपनी सोच की जंजीरों में बंध कर हम नाकामयाबी की जिंदगी जीने के लिए मजबूर हो गए हैं। कामयाब बनने के लिए सबसे पहले हमें खुद पर भरोसा करना सीखना होगा और अपने अंदर कामयाब होने की ख्वाहिश को जगाना होगा। इसके बाद अपने काम की प्लानिंग करके और अपने रास्तों बिना मुड़े डटकर चल कर हम कामयाब हो सकते हैं।

मुझे आशा है की आपको यह बुक समरी बहुत पसंद आयी होगी और आपको इससे कुछ नया सीखने को मिला होगा। तो अगर आपको लग रहा हो कि इस कंटेंट में बहुत वैल्यू हैं तो आप अपने दोस्तों और परिवारों के साथ जरूर शेयर करें। think and grow rich book summary in hindi

Think and Grow Rich Book Summary in Hindi

अगर आपको यह किताब अच्छी लगी हो और आप खरीदना चाहते हैं तो नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके खरीद सकते हैं।

Think and Grow Rich Book Buy Now!

think and grow rich book summary

Thanks for Reading 💖

My Favorite Book Summaries You Must Read :

  1. The Four Agreements Book Summary in Hindi
  2. The 4 hour work week Book Summary in Hindi
  3. Rich Dad Poor Dad Book Summary in Hindi
  4. 21 Success Secrets of Self-Made Millionaires
  5. Beyond Willpower Book Summary in Hindi

Comment Your Thoughts ...